Connect with us
Saturday,04-July-2020

राष्ट्रीय

आगामी शादी के सीजन में सोने में तेजी के रुझान

Published

on

अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक तनाव और ब्रेक्सिट पर अनिश्चतता के बादल के साथ-साथ वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती के संकेत से सुरक्षित निवेश के प्रति निवेशकों का रुझान बना रह सकता है। ऐसे में सोना सुरक्षित निवेश का एक परंपरागत साधन है।

बाजार के जानकार बताते हैं कि आगामी शादी के सीजन में देश में सोने की मांग में तेजी बनी रहेगी।

कार्वी कमोडिटीज के विनोद जयकुमार ने कहा, “अंतराष्ट्रीय मुद्रा कोष द्वारा वैश्विक अर्थव्यवस्था के विकास दर अनुमान को हाल में 3.7 फीसदी से घटाकर 3.5 फीसदी किए जाने से पीली धातु और अन्य जोखिम वाली निवेश परिसंपत्तियों में निवेशकों का रुझान बना रहेगा। साथ ही, शादी का सीजन शुरू होने से हाजिर मांग बढ़ेगी।”

एजेंल ब्रोकिंग के प्रथमेश माल्या ने आईएएनएस को बताया कि भारत में आमतौर पर सोने की मांग खपत के लिए होती है न कि रिटर्न के लिए।

दरअसल, भारत में सोने की जेवराती मांग ज्यादा है और निवेश मांग कम रहती है।

इस साल सोने में जोरदार तेजी देखने को मिली है, जिसका कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती रही है।

एसएमसी ग्लोबल सिक्योरिटीज की वंदना भारती ने कहा, “सोने की कीमतों में पहले से ही तेजी बनी हुई है और आगे मजबूती के रुझान से कीमतों को सपोर्ट मिलेगा।”

बाजार विश्लेषकों के अनुसार, सोने में तेजी का प्रमुख कारण अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व का नरम रुख है।

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज-एमसीएक्स- पर सोने का जून एक्सपायरी अनुबंध बीते सप्ताह के आखिरी कारोबारी सत्र में शुक्रवार को पिछले सत्र के मुकाबले 109 रुपये की बढ़त के साथ 31,859 रुपये प्रति 10 ग्राम रहा।

अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार कॉमेक्स पर सोने का जून अनुबंध शुक्रवार को पिछले सत्र के मुकाबले 0.03 फीसदी की तेजी के साथ 1,293.65 डॉलर प्रति औंस बंद हुआ।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)

राष्ट्रीय

जूम पर 13500 खर्च करने की जरूरत नहीं, जियोमीट पर 100 लोग करें मुफ्त वीडियो कॉलिंग

Published

on

Jio

रिलायंस जियो ने जियोमीट नाम से वीडियो कांफ्रेंसिंग के लिए नया ऐप बाजार में उतारा है। जियोमीट में 100 लोग वीडियो कांफ्रेंसिंग से जुड़ सकते हैं, वो भी बिलकुल मुफ्त। जूम ऐप में जहां इसके बेसिक या मुफ्त प्लान में महज 40 मिनट तक वीडियो कांफ्रेंसिंग की जा सकती है, वहीं जियोमीट में 24 घंटे तक ग्रुप में मुफ्त वीडियो कांफ्रेंसिंग की जा सकती है।

जूम ऐप पर फ्री वीडियो कॉलिंग के लिए मात्र 40 मिनट की अवधि दी जाती है और इससे अधिक समय के लिए वीडियो कॉलिंग या कांफ्रेंसिंग करने के लिए ग्राहक को प्रति माह 15 डॉलर का भुगतान करना होता है। यह राशि सालाना 180 डॉलर यानी करीब 13500 रुपये पड़ती है।

जियोमीट पर ग्राहक 24 घंटे तक मुफ्त में बातचीत कर सकते हैं। समयसीमा के कारण जूम पर वीडियो कांफ्रेंसिंग करने वालो को हर 40 मिनट में दोबारा लॉगइन करना पड़ता है। यह ग्राहकों का समय बर्बाद करने के साथ ही उनके लिए एक खराब अनुभव भी है।

उदाहरण के लिए घर से काम (वर्क फ्रॉम होम) के कारण दफ्तर की महत्वपूर्ण बैठक या तो 40 मिनट से पहले समाप्त करनी पड़ती है या फिर दोबारा लॉगइन करना होगा, अन्यथा लंबी कांफ्रेंसिंग के लिए सालाना लगभग 180 डॉलर चुकाने पड़ते हैं। शिक्षा क्षेत्र में भी जहां संसाधन सीमित हैं, वहां जूम ऐप समय का प्रतिबंध ऑनलाइन कक्षाओं में बाधा उत्पन्न कर रहा है।

समयसीमा के अलावा भी जियोमीट सुविधाओं के मामले में जूम पर कहीं भारी पड़ेगा। वीडियो कांफ्रेंसिंग में प्रतिभागी डबल क्लिक करके किसी भी अन्य प्रतिभागी की वीडियो विंडो को बड़ा कर सकते हैं, जबकि जूम में यह सुविधा नहीं है।

इसके अलावा जियोमीट में अगर होस्ट चाहे कि किसी एक संस्था के लोग ही वीडियो कांफ्रेंसिंग में हिस्सा लें तो वह संस्थान की मेल आईडी से लॉगइन कर सकता है। इससे संस्थान के अलावा अन्य कोई भी बैठक का हिस्सा नहीं बन पाएगा। जूम में यह सुविधा भी उपलब्ध नहीं है।

जूम ऐप में अगर आप को अचानक बाहर जाना पड़ जाए और आप चाहते हैं कि आप बिना संपर्क टूटे (डिस्कनेक्ट हुए) लैपटॉप के बजाए मोबाइल पर वीडियो कांफ्रेंसिंग से जुड़े रहें, तो यह संभव नहीं है। जियोमीट पर आप यह आसानी से कर सकते हैं। आप जब चाहें जिस भी डिवाइस से चाहें बिना डिस्कनेक्ट हुए विडियो कांफ्रेंसिंग से जुड़े रह सकते हैं। जियोमीट को किसी भी प्लेटफॉर्म से व किसी भी डिवाइस से एक्सेस किया जा सकता है।

अगर आप मोबाइल से कनेक्टेड है तो जूम ऐप में आप मात्र चार प्रतिभागियों को एक बार में देख सकते हैं और बाकियों को देखने के लिए आपको स्क्रॉल करना पड़ता है, जबकि जियोमीट में एक बार में आठ प्रतिभागियों को देखा जा सकता है।

सुरक्षा के मामले में भी जियोमीट, जूम से बेहतर स्थिति में है। फरवरी और मार्च माह में सरकार की तरफ से जूम को असुरक्षित प्लेटफॉर्म माना गया था।

जियोमीट पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के लिए अब किसी इनवाइट कोड की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसकी खास बात यह है कि 100 से अधिक यूजर्स एक बार में जियोमीट पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जुड़ सकते हैं। जियोमीट लगभग सभी तरह के डिवाइस पर बखूबी काम करता है।

जियोमीट को गूगल प्लेस्टोर या एप्पल स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। यह एंड्रॉएड और एप्पल पर समान रूप से काम करता है। जियोमीट माइक्रोसॉफ्ट विंडोस को भी सपोर्ट करता है, इसलिए यूजर्स इसे डेस्कटॉप या लेपटॉप पर भी आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।

गृह मंत्रालय के साइबर समन्वय केंद्र (सीसीसी) ने 12 अप्रैल को एक एडवाइजरी (सलाह) जारी करते हुए चेतावनी दी थी कि बैठकों के लिए जूम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एप्लिकेशन एक सुरक्षित मंच नहीं है।

इस एडवाइजरी में यह उल्लेख किया गया, “जूम मीटिंग प्लेटफॉर्म का सुरक्षित उपयोग निजी व्यक्तियों के लिए है न कि सरकारी कार्यालयों या आधिकारिक उद्देश्य के उपयोग के लिए।”

इसके साथ ही इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्रालय के तहत भारतीय कंप्यूटर आपातकालीन प्रतिक्रिया टीम सीईआरटी ने भी जूम ऐप के लिए दो उच्च गंभीरता रेटिंग परामर्श जारी किए हैं।

सीईआरटी ने 30 मार्च की एडवाइजरी में कहा था कि इस मंच का असुरक्षित उपयोग साइबर अपराधियों को संवेदनशील जानकारी तक पहुंचने की अनुमति दे सकता है।

ऐसे समय में जब साइबर सुरक्षा एक प्रमुख मुद्दा बन चुका है और चीनी ऐप्स पर भी प्रतिबंध लगाए गए हैं, यह जियोमीट के लिए बाजार में अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराने का एक बेहतरीन मौका है।

Continue Reading

राष्ट्रीय

टमाटर हुआ लाल, दिल्ली में 70 रुपये किलो हुआ भाव

Published

on

tomato

बरसात का सीजन शुरू होने के साथ टमाटर फिर लाल हो गया है। देश की राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाके में टमाटर शुक्रवार को 70 रुपये प्रति किलो बिक रहा था। बरसात में फसल खराब होने से टमाटर की आवक घट जाने के कारण कीमतों में उछाल आया है। हालांकि अगले सप्ताह से नई फसल की आवक जोर पकड़ने के बाद कीमतों में गिरावट आने की उम्मीद है।

बीते एक महीने में टमाटर के दाम थोक दाम में 10 गुना तक की वृद्धि हुई है। एक महीने पहले दिल्ली की आजादपुर मंडी में टमाटर का भाव जहां 1.25 रुपये से लेकर 4.75 रुपये प्रति किलो चल रहा था, वहां शुक्रवार को थोक भाव छह रुपये प्रति किलो से लेकर 44 रुपये प्रति किलो दर्ज किया गया।

मॉडल रेट की बात करें तो तीन जून को आजादपुर मंडी में टमाटर का मॉडल रेट तीन रुपये प्रति किलो था, जो बढ़कर 29 रुपये प्रति किलो यानी करीब 10 गुना ज्यादा हो गया है।

एक दिन पहले मंडी में टमाटर का थोक भाव 52 रुपये प्रति किलो तक उछला यानी बीते एक महीने में करीब 995 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। थोक दाम बढ़ने से दिल्ली-एनसीआर में टमाटर का भाव गुरुवार को 80 रुपये किलो तक उछला। ग्रेटर नोएडा में खुदरा टमाटर 50 रुपये से लेकर 70 रुपये प्रति किलो बिक रहा था।

आजादपुर कृषि उपज विपणन समिति(एपीएमसी) के चेयरमैन आदिल अहमद खान ने बताया कि टमाटर की आवक कम होने की वहज से कीमतों में इजाफा हुआ है। आजादपुर मंडी में तीन जून को टमाटर की आवक 528.2 टन थी जबकि तीन जुलाई को आवक 281.6 टन थी। इस प्रकार, आवक एक महीने में घटकर तकरीबन आधी रह गई। एक दिन पहले टमाटर की आवक घटकर 241.9 टन रह गई थी जिसके कारण थोक भाव बढ़कर 52 रुपये प्रति किलो तक हो गया। पिछले सत्र में टमाटर का थोक भाव छह रुपये से 52 रुपये प्रति किलो था जबकि मॉडल रेट 32 रुपये प्रति किलो।

उन्होंने कहा कि टमाटर ही नहीं, तमाम सब्जी व फलों के दाम में तेजी आई है जिसकी एक बड़ी वजह डीजल के दाम में वृद्धि है। उन्होंने कहा कि डीजल के दाम में बढ़ोतरी से सब्जियों की परिवहन लागत बढ़ गई है।

हालांकि खान ने बताया कि टमाटर अब ज्यादा लाल नहीं होगा, अगले सप्ताह से हिमाचल प्रदेश से नई फसल की आवक जोर पकड़ने वाली है। जिसके बाद कीमतों में गिरावट आ जाएगी। उन्होंने बताया कि इस समय दिल्ली में 90 फीसदी आवक हिमाचल प्रदेश से हो रही है कि 10 फीसदी आवक हरियाणा और कर्नाटक से हो रही है।

कोरोना काल में देशव्यापी लॉकडाउन के कारण होटल, रेस्तरां, कैंटीन और ढाबा बंद रहने के कारण टमाटर, प्याज समेत तमाम हरी सब्जियों की खपत बीते महीनों के दौरान घट गई जिससे जिससे कीमतों में काफी गिरावट आई। टमाटर का थोक भाव एक रुपया प्रति किलो से भी कम हो गया था।

चैंबर ऑफ आजादपुर फ्रूट्स एंड वेजीटेबल्स एसोसिएशन के प्रेसीडेंट एम. आर. कृपलानी ने बताया कि बरसात में फसल खराब होने के कारण आवक कम हो रही है। उन्होंने कहा कि किसान पहले दाम कम होने के कारण परेशान थे और अब फसल खराब होने से परेशान हैं।

Continue Reading

राष्ट्रीय

बजाज ऑटो की बिक्री जून में 31 प्रतिशत घटी

Published

on

Bajaj

दोपहिया और तिपहिया वाहन निर्माता कंपनी बजाज ऑटो ने गुरुवार को कहा कि उसने निर्यात सहित कुल बिक्री में 31 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की है। कंपनी के अनुसार, 2019 में जून के महीने में 4,04,624 वाहनों की बिक्री हुई थी, जबकि जून 2020 में सिर्फ 2,78,097 वाहनों की बिक्री हुई।

इसी तरह, बजाज ऑटो की कुल घरेलू बिक्री 1,51,189 इकाइयों की रही, जबकि पिछले साल जून में 2,29,225 वाहनों की बिक्री हुई थी, जिससे इस साल बिक्री दर में 34 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है।

बजाज कंपनी ने 2019 में कुल 1,75,399 इकाइयों का निर्यात किया था, वहीं 2020 में जून में कंपनी ने 1,26,908 इकाइयों का निर्यात किया। यानी कंपनी को कुल निर्यात में 28 प्रतिशत गिरावट देखने को मिली है।

अगर हम दोपहिया वाहनों की बात करें तो, कंपनी का कहना है कि दोपहिया वाहनों की बिक्री में 27 प्रतिशत तक गिरावट देखने को मिली है, क्योंकि पिछले साल जून में 3,51,291 वाहनों की बिक्री हुई थी, वहीं इस साल सिर्फ 2,55,122 वाहनों की बिक्री हुई।

कंपनी के वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री दर में 57 प्रतिशत गिरावट हुई है। जून महीने में 22,975 इकाई वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री हुई है, वहीं पिछले साल जून में 53,333 वाहन बिके थे।

Continue Reading
Advertisement
FIFA
खेल39 mins ago

यू-20 विश्व कप स्थलों का निरीक्षण करेगी फीफा

corona (1)
सामान्य49 mins ago

दिल्ली में कोरोना से 81 और मरे, अब तक 3 हजार व्यक्तियों की मौत

अनन्य1 hour ago

सोमवार से देश के 6 शहरों से कोलकाता के लिए उड़ानें निलंबित

Prince-Royce
सामान्य1 hour ago

कोविड-19 से ठीक हो रहे हैं प्रिंस रॉयस

PM Modi
राजनीति1 hour ago

भाजपा ने सेवा कार्य का दिया प्रजेंटेशन, पीएम ने कहा- बुकलेट बनाएं

Nasser-Hussain
खेल1 hour ago

गांगुली मुझे हमेशा टॉस के लिए इंतजार कराते थे : नासिर हुसैन

Alia
बॉलीवुड1 hour ago

आलिया भट्ट ने घर आए नन्हें मेहमान की तस्वीर साझा की

PUBG
व्यापार2 hours ago

पबजी मोबाइल ने कमाए करीब 10 हजार करोड़ रुपये, डाउनलोड चार्ट में भारत अव्वल

Cricket
खेल2 hours ago

इंग्लैंड में शौकिया क्रिकेट की शुरुआत 11 जुलाई से

Kapil-Sibal
राजनीति2 hours ago

कांग्रेस ने गलवान घाटी मुद्दे पर नेहरू के जरिए केंद्र पर निशाना साधा

Apple
व्यापार3 weeks ago

आईफोन 12 का उत्पादन जुलाई से शुरू होगा : रिपोर्ट

राजनीति1 week ago

मनमोहन ने वित्त मंत्री रहते हुए आरजीएफ को आवंटित किए थे 100 करोड़, बीजेपी हुई हमलावर

lockdown5
महाराष्ट्र5 days ago

31 जुलाई तक के लिए बढ़ा लॉकडाउन महाराष्ट्र में, जानिए क्या हैं शर्तें

ansari
अपराध1 week ago

बाबा रामदेव के खिलाफ अपराधिक मामला दर्ज करने की मांग। लोगों की जान के साथ खिलवाड़ करने की कोशिश

अपराध4 weeks ago

जोधपुर में भी फ्लॉयड जैसी घटना : पुलिस ने मास्क न पहनने पर व्यक्ति की गर्दन दबा दी

uddhav
महाराष्ट्र3 weeks ago

उद्धव ठाकरे ने खारिज की अफवाहें, महाराष्ट्र में फिर से लॉकडाउन नहीं

dhara144
महाराष्ट्र3 days ago

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए, मुंबई में धारा 144 लागू कर दी गई

uddhavsarkar
महाराष्ट्र6 days ago

महाराष्ट्र में लॉकडाउन प्रतिबंध 30 जून के बाद भी जारी रहेगा : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

mns
महाराष्ट्र1 week ago

MNS अध्यक्ष राज ठाकरे के घर पर काम करने वाले 7 लोग मिले कोरोना पॉजिटिव

uddhav
महाराष्ट्र3 weeks ago

स्कूलों के शैक्षिक सत्र को शुरू करने की अनुमति, कई शर्तों का करना होगा पालन : उद्धव ठाकरे

अपराध11 months ago

झोमेटो की महिला ने गाड़ी उठा कर ले जाने पर ट्रैफिक पुलिस को दी गालियां

अपराध11 months ago

मुंबई के भायखला ई वार्ड में स्थित केएसए ग्रांड के 18वें फ्लोर से गिरी लिफ्ट, एक शख्स घायल

अपराध12 months ago

मोबाइल किस तरह लोगों के लिए खतरनांक बनता जा रहा है..देखिए इस वायरल वीडियो में पूरी सच्चाई

सामान्य12 months ago

महाराष्ट्र सुरक्षा गॉर्ड के जवानों की सतर्कता ने बचाई एक वरिष्ठ नागरिक की जान

अनन्य1 year ago

मुंबई में अब शिवसेना नगरसेवक की दबंगई, सरेआम चिकन ट्रक ड्राइवर को पीटा

राजनीति1 year ago

प्रधानमंत्री के नाम पर बनी मोदी मस्जिद की ये है सच्चाई

अपराध1 year ago

सोती मुंबई पुलिस, जागते डांस बार

अपराध1 year ago

मालेगांव के मेयर रशीद शेख ने दी आरटीआई कार्यकर्ता अज्जू अंसारी को दी फोन पर धमकी, कहा मेरे खिलाफ सोशल मीडिया पर लिखना बंद करो..नहीं तो..??

अपराध1 year ago

सपा बिल्डर और पूर्व नगरसेवक के जुल्मों सितम से परेशान ई-वार्ड के लोग, एक निर्माणाधीन इमारत में चोरी की पानी की पाइप लाइन लगाते वक्त टला बड़ा हादसा

अपराध1 year ago

Must Watch Video | मुंबई से सटे पडघा टोल ऑपरेटर की दादागिरी का वीडियो वायरल

रुझान

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com